Swarg narak hai es dharti par स्वर्ग नरक है इस धरती पे- Hari Bhajan By Anup Jalota

Swarg narak hai es dharti par

Lyrics:स्वर्ग नरक है इस धरती पे

स्वर्ग नरक है इस धरती पे
नही गगन के देखो पार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

स्वर्ग नर्क सब इस धरती पे
नही गगन के देखो पार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

जो दुख पता प्रभु से कहता
क्यू प्रभु तुम दुख देते हो
हमने किया नही कुच्छ एसा
फिर क्यू नही सुख देते हो
याद नही है उस प्राणी को
जानम के पाप का भर
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

स्वर्ग नर्क है इस धरती पे
नही गगन के देखो पार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

एक फकीर जो नंगा सोवे
टन डकने को नही बसन
दुख सह के मॅन निर्मल होगा
करले करले पियर सहन
दंड भोग के पाप कटेगा
कारगर बना संसार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

स्वर्ग नर्क है इस धरती पे
नही गगन के देखो पार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

सुख दुख दोनो एक सामना
दोनो प्रभु का है वरदान
अंधकार तो दिन भी संग मे
यही प्रभु का परिचय ज्ञान
प्रभु का सुमिरन नारायण कर
दुख का जो करता संहार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

स्वर्ग नर्क है इस धरती पे
नही गगन के देखो पार
अच्छा करम तो सुख देवे है
बुरा करम है दुख का सार

बुरा करम है दुख का सार
बुरा करम है दुख का सार

बुरा करम है दुख का सार
बुरा करम है दुख का सार

बुरा करम है दुख का सार
बुरा करम है दुख का सार

Check Also

Govind Chale Aawo गोपाल चले आओ- Krishna Bhajan

Govind Chale Aawo Lyics: गोपाल चले आओ गोविंद चले आओ, गोपाल चले आओ, गोविंद चले …