Aa Jao Mere Ghar Jagdamba आ जाओ मेरे घर जगदंबा- Maa Durga Bhajan By Lajwanti Pathak

Aa Jao Mere Ghar Jagdamba

Lyrics: आ जाओ मेरे घर जगदंबा

चॉक पूरौऊ घर कलश धराउ,
और दीप जलाओ मेरी सुन अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
चॉक पूरौऊ घर कलश धराउ,
और दीप जलाओ मेरी सुन अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,

सबरी के बेर सुदामा के चावल, सात विदुर घर खाया है,
सबरी के बेर सुदामा के चावल, सात विदुर घर खाया है,
होते है भगवान उसी के जिसने प्रेम लूटाया है, जिसने प्रेम लूटाया है,
उसी के बसे अपने घर मेी, उसी के बसे अपने घर मेी,
तुझा बुलाए मेरी सुन अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,

शcचे मन से जब धनु ने मा को मैया कहके पुकारा है,
शcचे मान से जब धनु ने मा को मैया कहके पुकारा है,
जीवन दिया और तूने उसका भाग्या सावरा है, उसका भाग्या सावरा है,
मेरे भी मा भाग्या सवारो, मेरे भी मा भाग्या सवारो,
तुझे बुलाए मेरी सुन अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,

जोड़ जोड़ कर तिनका टीका झोपड़ी एक बनाई है, झोपड़ी एक बनाई है,
मैया तेरी दीवानी मेी चोवकी तेरी सजाई है, चोवकी तेरी सजाई है,
रूखा सूखा जॉब ही पास मेी, रूखा सूखा जॉब ही पास मेी,
तुझे खिलौ मेरी सुन्न अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,

टेआरस रही हू दर्शन को मा, बोलो कब तुम आओगी, बोलो कब तुम आओगी,
सबरी का प्रेम धनु की भक्ति एस कुटिया मेी पावगी, एस कुटिया मेी पावगी,
रोम रोम मेी बसी हो मा तुम, रोम रोम मेी बसी हो मा तुम,
तुम्हे शीश नवाउ मेरी सुन्न अंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,
आ जाओ मेरे घर जगदंबा,

Check Also

Mai Mangti Tere Darbaar Di मैं मंगती तेरे दरबार दी- Maa Durga Bhajan By Narendra Chanchalji

Mai mangti tere darbaar di, Lyrics: मैं मंगती तेरे दरबार दी अज्ज दोहाई है सच्ची …